JSSC / Hindi Paper-2 , Objective Questions - JSSC HUB

Get latest exclusive Jssc news updates and study materials.

recent update

Sunday, 1 October 2017

JSSC / Hindi Paper-2 , Objective Questions



JSSC / Hindi Paper-2 ,Objective Questions

आँगन में लिए चांद के टुकडे को खडी
 हाथ पे झुलाती है उसे गोद भरी 
रह-रह के हवा में जो लोका देती है 
गूंज उठती है खिलखिलाते बच्चे की हँसी ।।
नहला के छलके- छलके निर्मल जल से 
उलझे हुए गेसुओं में कंघी करके 
किस प्यार से देखता है बच्चा मुंह को 
जब घुटनियों में ले के  पिन्हाती कपड़े ।।


1)      रह-रह में कौन सा अलंकार है


1.                  यमक अलंकार 
2.                  उपमा अलंकार 
3.                  रूपक अलंकार 
4.                  पुनरुक्ति प्रकाश अलंकार 
2 )इस कविता का शीर्षक का क्या है

1.                  उषा
2.                  पतंग 
3.                  रुबाइयाँ
4.                  कैमरे में बंद अपाहिज
3) इस कविता की रचना किसने की है

1.                  फिराख गोरखपुरी
2.                  रघुवीर सहाय ने 
3.                  शमशेर बहादुर सिंह ने
4.                  उमाशंकर जोशी ने 
4) कपडा. का कौन सा पर्यायवाची शब्द नहीं है
1.                  कनक
2.                  पट
3.                  अम्बर
4.                  वसन
5) इस कविता में  कौन से शैली का वर्णन की गई है 
1.                  प्रश्नात्मक शैली 
2.                   आत्मकथात्मक
3.                   चित्रात्मक एवं भावात्मक 
4.                  दृष्टांत
6) चाँद का कौन सा पर्यायवाची शब्द नहीं है 
1.                  हिमांशु
2.                  इंदु
3.                  शशि
4.                  रौप्य
7) छलके- छलके में कौन सा अलंकार है

1.                  यमक अलंकार 
2.                  विरोधाभास अलंकार 
3.                  रूपक अलंकार 
4.                  पुनरुक्ति प्रकाश अलंकार
8) गेसु का अर्थ क्या है
1.                  चमक
2.                  बाल
3.                  आँख
4.                  सुंदर



ANSWER:-
1.            4
2.            3
3.            1
4.            1
5.            3
6.            4
7.            4
8.            2

No comments:

Post a Comment